SEO क्या है | आसान भाषा में विस्तार से समझें

seo kya hai process

इस पोस्ट में हम जानेंगे कि SEO क्या होता है, यह कार्य कैसे करता है, हमें SEO की जरूरत क्यों है, तथा SEO के लिए कौन कौन से टूल हम उपयोग में ले सकते हैं । हम SEO (Search Engine Optimization) की बुनियादी बातों के बारे में जानेंगे, क्योंकि SEO एक व्यापक विषय है जिसे एक पोस्ट में पूरा नहीं किया जा सकता है।

इंटरनेट पर बहुत से सर्च इंजन उपलब्ध हैं जो लोगों की समस्याओं को इंटरनेट पर खोज कर उन्हें उचित रिजल्ट प्रदान करने में मदद करते हैं, जैसे गूगल, बिंग, याहू, आदि यह सभी बहुत लोकप्रिय सर्च इंजन(Search Engine) हैं।

जब हम इंटरनेट पर कुछ सर्च करते हैं तो हमें हजारों रिजल्ट मिलते हैं, और सर्च इंजन के अनुसार जो रिजल्ट सबसे अच्छा होता है वह सबसे पहले पेज पर दिखता है। मान लीजिए हमने गूगल पर कार कीवर्ड (Keyword) सर्च किया, तो कार के संदर्भ में वेबसाइट बनाने वाले हजारों होंगे और सभी लोग चाहते होंगे की कार सर्च करने पर मेरी वेबसाइट सबसे पहले दिखे, तो इसी मोड़ पर काम आता है SEO, इसका पूरा नाम Search Engine Optimization

SEO क्या है ? (What is SEO)

SEO वह प्रक्रिया है जिसके माध्यम से व्यक्ति अपना कोई प्रोडक्ट (वेबसाइट, वीडियो, फाइल्स, आदि) सर्च इंजन के पहले पेज पर रैंक कर सकता है जिसे SERP (search engine result page) कहा जाता है।
SERP पेज पर आने के दो तरीके हैं 1. पहला है पैसे देकर और (विज्ञापन के माध्यम से) 2. दूसरा है SEO के माध्यम से, पैसे देकर पहले पेज पर आना कोई कठिन काम नहीं है पर यदि हम बिना पैसे दिये सर्च इंजन पर रैंक करना चाहते हैं तो हमें अपनी वेबसाइट पर बहुत अच्छे से SEO करना पड़ेगा।

तो यदि हम पहले उदाहरण के अनुसार गूगल पर कार सर्च करते हैं तो सबसे पहले उसका रिजल्ट आएगा जिसने कार कीवर्ड को ध्यान में रखकर SEO किया होगा।

SEO दो प्रकार के होते हैं (Type of SEO)

  • ऑन पेज SEO (On Page SEO)
  • ऑफ पेज SEO (Off Page SEO)

SEO काम कैसे करता है (How SEO works)

सर्च इंजन के पास वेब रोबोट (Web Robot) होते हैं जो खास तरह के निर्देश (Instructions) तथा प्रकिया के आधार पर कार्य करते हैं जिसे एल्गोरिथ्म (Algorithm) कहा जाता है। उन रोबोट को तकनीकी भाषा में क्रॉलर या स्पाइडर (Crawler or Spider) भी कहते हैं ।

ये रोबोट इंटरनेट पर मौजूद हर एक पेज को पढ़ते हैं जो गूगल पर इंडेक्स (Index) किया गया है और उन पेज से मिली जानकारी को व्यवस्थित रूप से अपने डाटा-बेस (Database) में सुरक्षित रख लेते हैं।
और जब भी आप कोई कीवर्ड सर्च इंजन पर सर्च करते हैं तो वह अपने पास रखे डाटा-बेस से खोज कर आपको उचित रिजल्ट दिखा देता है। इससे यह पता चलता है की आपकी वेबसाइट पर लिखा हर शब्द मायने रखता है। इसलिए पेज का शीर्षक (Title) तथा पेराग्राफ (Paragraph) सभी उचित रूप से लिखा होना चाहिए।

मापदंड (Standard)

गूगल के serp पेज पर आने के लिए इतना जान लेना काफी नहीं है। गूगल पर रैंक करने के लिए आपको गूगल के द्वारा तय किए गए मापदंडों (Standards) पर खरा उतरना होगा ।

गूगल के मापदंडों में गुणवत्ता (Quality), विश्वास (Trust), अधिकार (Authority), को जाँचा परखा जाता है ।

गुणवत्ता (Quality)

गुणवत्ता के आधार पर गूगल (सर्च इंजन) यह देखता है की आपके कंटेंट में उपयोगकर्ताओं (Users) के लिए कुछ मूल्यवान (Valuable) है या नहीं, आपका कंटेंट (Content) उपयोगकर्ताओं को रुचिकर (Interesting) लगता है या नहीं, और सबसे जरूरी बात आपका कंटेंट दूसरों से कैसे अलग है यानि गुणवत्ता के साथ साथ अनोखा (Unique)भी होना चाहिए।

विश्वास (Trust)

विश्वास के आधार पर गूगल यह देखता है कि आपके कंटेंट पर कितने यूजरस् को विश्वास है। क्योंकि गूगल ऐसे ही किसी भी वेबसाइट को रैंक नहीं देता है। यदि आपकी वेबसाइट पर यूज़र्स का अनुभव बुरा रहता है तो वे आपको बुरी प्रतिक्रिया देंगे और उस प्रक्रिया का प्रभाव आपकी रैंकिंग पर भी पड़ेगा।

इसलिए रैंकिंग अच्छी करने के लिए आपको यूजर्स का विश्वास जीतना पड़ेगा और उसके लिए आपको कुछ एसा करना होगा कि यूजर्स आपकी वेबसाइट पर ज्यादा समय बिताएं और दूसरों को भी वेबसाइट शेयर करें और सबसे मुख्य बात, दूसरी विश्वसनीय वेबसाइट आपकी वेबसाइट को लिंक करें जैसे मशहूर न्यूज़ पेपर या मैगज़ीन की साइट आदि। यदि उनकी बैकलिंक आपको मिलती है तो यह आपके SEO के लिए बहुत अच्छी बात होगी।

बैकलिंक (Backlink) किसी दूसरी वेबसाइट द्वारा आपकी वेबसाइट को पॉइंट (Point) की गई लिंक बैकलिंक कहलाती है।

अधिकार (Authority)

अधिकार के तहत गूगल यह देखता है कि कौन सी वेबसाइट ज्यादा प्रसिद्ध है, जो वेबसाइट ज्यादा प्रसिद्ध
होगी उस वेबसाइट का महत्व ज्यादा होता है। इसलिए अपनी वेबसाइट को प्रसिद्ध करने के लिए अपना फेनबेस (Fanbase) बनाएं, अपनी कम्यूनिटी को बढ़ाएं , इसके लिए आप सोशल मीडिया (Social Media) का सहारा ले सकते हैं।

केवल प्रसिद्ध होना काफी नहीं हैं, प्रसिद्ध होने के साथ-साथ संबंधित भी होना चाहिए। जैसे यदि किसी ने मोबाइल कीवर्ड सर्च किया तो इससे आपकी वेबसाइट का प्रसिद्ध होना काफी नहीं होगा, प्रसिद्ध होने के साथ-साथ आपकी वेबसाइट मोबाइल से संबंधित भी होनी चाहिए और मोबाइल कीवर्ड आपकी वेबसाइट पर होना चाहिए।

हमें SEO कि जरूरत क्यों है।

SEO की हमें जरूरत क्यों है, इसका सीधा सा जवाब है की वेबसाइट पर ट्राफिक लाने के लिए और इस काम में SEO हमारी बहुत मदद करता है।


एसा नहीं है की एक बार पेज या वेबसाइट का SEO कर देने के बाद हमारा काम समाप्त हो जाता है, क्योंकि गूगल का एल्गोरिथ्म अपडेट होता रहते हैं तथा हमें भी SEO को लगातार अपडेट रखना पड़ता है ताकि हमारी वेबसाइट सर्च इंजन के मापदंडों पर खरी उतरे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here